All posts tagged: रामायण

श्रीराम-शबरी मिलन: प्रभु श्रीराम की ‘नवधा भक्ति’ के नौ रस

नवधा भक्ति में लीन शबरी ने श्री राम का अनुपम दर्शन कर के उस गति को प्राप्त कर लिया जो योगियों के लिए भी दुर्लभ है।

indian-folk-art

रामनवमी महिमा – भाग ३

आज ही के दिन यानि चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को प्रभु ने पृथ्वी का भार हरने और प्रजाजन के कष्ट निवारण के लिए पृथ्वी पर अवतरण लिया था।

Lord-Bhagwan-Ram

रामनवमी महिमा – भाग २

ब्रह्मा जी ने देवताओं और गौ रूप में आयीं देवी पृथ्वी जी से कहा, आप सब मेरे साथ प्रेम पूर्वक प्रभु जी का स्मरण करें, जिसके हृदय में जैसी भक्ति होती है प्रभु उसी रीती से वहाँ सदैव प्रकट रहते हैं। वे ही प्रभु भुभारहारी जिनकी भक्ति शिवजी और विष्णु जी भी करते हैं।

Tulsidas

अपने-अपने राम

कथा प्रसंग जुड़ते रहेंगे, माध्यम परिवर्तित होते रहेंगे परंतु राम त्रेता से कलयुग के ‘आदिपुरुष’ थे,हैं और रहेंगे। गरिमा तिवारी बता रही हैं आपने, उनके और हमारे राम की भक्ति कथा।

उत्तर काण्ड – दुविधा के कारण

रामायण हमारे सबसे बड़े और महान महाकाव्यों में से एक है, इसे एक जीवित शिक्षक के तुल्य माना जाता है जो लोगों को सभ्य मानव के रूप में अग्रणी जीवन की बारीकियों से अवगत कराता है।